भाजपा सरकार के राज में महंगाई के बाद अब बेरोजगारी की मारः करन माहरा

देहरादून। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष करन माहरा ने उत्तराखण्ड राज्य में बेरोजगारी की दर में हो रही लगातार वृद्धि पर तंज कसते हुए कहा कि भाजपा ने देश और प्रदेश की सत्ता पर काबिज होने के लिए युवा नौजवान, बेरोजगार एवं गरीबों का सहारा लिया था। 100 दिन में मंहगाई कम करने तथा प्रतिवर्ष 2 करोड़ बेरोजगारों को रोजगार देने का सपना दिखा कर देश और प्रदेश की सत्ता पर काबिज तो हो गये परन्तु आज जिस प्रकार मंहगाई व बेरोजगारी दिन-दूनी रात चौगुनी रफ्तार से बढ़ रही है उससे देश एवं प्रदेश का गरीब, किसान, नौजवान, बेरोजगार अपने को ठगा सा महसूस कर रहा है।
प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष करन माहरा ने कहा कि आज देश में मंहगाई अपने चरम पर पहुंच गई है, गरीब को दो जून की रोटी के लिए संघर्ष करना पड रहा है वहीं दूसरी ओर देश और प्रदेश में बेरोजगारी महामारी की भांति पैर पसार चुकी है। उन्होंने कहा कि वर्ष 2013-14 का वो दौर याद कीजिए जब मोदी जी देश के युवाओं और आम लोगों को कैसे-कैसे सपने दिखा रहे थे। अपने लगभग हर भाषण में वादा करते थे कि सत्ता में आते ही बेरोजगारी और मंहगाई को खत्म कर देंगे। चुनाव में भाजपा की रैलियों में ‘‘बहुत हुई मंहगाई की मार…….।’’ जैसे नारों की गूंज हर जगह सुनाई दे रही थी। आज उन्हें केन्द्र की सत्ता में आए 8 साल से ज्यादा हो गये हैं, लेकिन मंहगाई और बेरोजगारी कम होने की बजाय आसमान छू रही है। जहां एक ओर केन्द्र की मोदी सरकार की विफल आर्थिक नीतियों के कारण देश में मंहगाई रिकार्ड स्तर पर है तथा बीते दो वर्ष से मंहगाई दर दोहर अंकों में है। पेट्रोल, डीजल, सीएनजी, एवं रसोई गैस से लेकर अनाज, दालें, खाद्य तेल जैसी जरूरी चीजों की कीमतें भी आसमान छू रही हैं। वहीं उत्तराखण्ड राज्य की भाजपा सरकार ने बेरोजगारी में देश के कई राज्यों को पछाड़ दिया है।
श्री करन माहरा ने कहा कि चारधाम यात्रा में रिकार्ड तीर्थ यात्रियों के पहुंचने का दावा कर अपनी पीठ थपथपाने वाली भाजपा सरकार के दावों की पोल सी.एम.आई.ई. की रिपोर्ट के आंकड़ों ने खोल दी है। जिसमें कहा गया है कि उत्तराखण्ड में पर्यटन सीजन में लगातार गिरावट आई है। उत्तराखण्ड राज्य में केवल चार माह में बेरोजगारी दर में 4 अंकों का उछाल आया है जो पुष्कर सिंह धामी सरकार की नाकामियों को साबित करती है। उन्होंने कहा कि राज्य में पिछले सालों में सरकारी विभागों में जो भर्तियां हुई भी हैं वे सब घोटालों की भेंट चढ़ चुकी हैं।
प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष करन माहरा ने कहा कि केन्द्र की मोदी सरकार द्वारा लाई गई अग्निपथ योजना ने तो उत्तराखण्ड के बेरोजगार युवाओं के घाव पर नमक छिड़कने का काम ही किया है। जो युवा सेना में शामिल होकर गर्व से देश सेवा का सपना देखते थे उन्हें 4 वर्ष के लिए ठेके पर नौकरी करने को कहा जा रहा है। इसमें न पेंशन की गारंटी है और न ही सुरक्षित भविष्य की। ऐसे में युवा तनाव मुक्त होकर देश सेवा कैसे करेंगे? एक तरफ देश में करोड़ों युवा बेरोजगार बैठे हैं। दूसरी तरफ केन्द्र सरकार के कई विभागों में करीब 10 लाख पद खाली पड़े हैं। भाजपा सरकारों में लोग बेरोजगारी और मंहगाई की दोहरी मार झेलने को मजबूर हैं। प्रदेश महामंत्री मथुरादत्त जोशी ने भी उत्तराखण्ड में बढ़ती बेरोजगारी की दर पर चिन्ता प्रकट करते हुए इसी धामी सरकार की नाकामी बताते हुए कहा कि उत्तराखण्ड जैसे छोटे राज्य जिसकी बुनियाद बेरोजगारी की नींव पर खड़ी है तथा अलग राज्य की मांग का मुख्य कारण बेरोजगारी रहा है आज अपना प्रदेश होने के बावजूद सबसे उपेक्षित यहां का बेरोजगार नौजवान है जो भाजपा सरकार की नाकामी के कारण अपने को ठगा सा महसूस कर रहा है।
———————————————–

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *